Thursday, 31 October 2019

Breakup Status in Hindi | Breakup Shayari for fb -Statuspb

Breakup Status in Hindi :

Breakup is very difficult situation for two loved ones. In that situation , they have to
separate from each other.  And in this situation mind wants to share sorrow with others
through status on facebook , whatsapp . In this post you have good collection of breakup
status .



Breakup Status in Hindi
Breakup Status in Hindi



इश्क के फटाखे फोड़ना हमने छोड़ दिया, वरना हर दरवाजे पर हमारा ही धमाका होता.

फ़रिश्ते ही होंगे जिनका इश्क मुकम्मल होता है ,
हमने तो यहाँ इंसानों को बस बर्बाद होते देखा है


सिर्फ तूने ही कभी मुझको अपना न समझा ,
जमाना तो आज भी मुझे तेरा दीवाना कहता है


बस ऐक चहेरे ने तन्हा कर दिया हमे, वरना हम खुद ऐक महेफिल हुआ करते थे.


उससे कह दो कि मेरी सज़ा कुछ कम कर दे,  हम पेशे से मुज़रिम नहीं हैं बस गलती से इश्क हुआ था…


जीतें है इस आस पर एक दिन तुम आओगे, मरते इसलिए नहीं क्युँकी अकेले रह जाओगे....


मुझे किसी के बदल जाने का गम नही , बस कोई था, जिस पर खुद से ज्यादा भरोसा था…


यही सोचकर कोई सफाई नहीं दी हमने. कि इल्जाम झूठे भले हैं पर लगाये तो तुमने हैं ..


चली जाने दो उसे किसी ओर कि बाहों मे ।। इतनी चाहत के बाद जो मेरी ना हुई, वो किसी ओर कि क्या होगी ।



 बहुत भीड़ हो गयी है तेरे दिल में, अच्छा हुआ हम वक़्त पर निकल गए ..


चित्रकार तुझे उस्ताद मानूँगा, दर्द भी खींच मेरी तस्वीर के साथ.


कौन खरीदेगा अब हीरो के दाम में तुम्हारे आँसु ;वो जो दर्द का सौदागर था, मोहब्बत छोड़ दी उसने ।


ख़ुशी कहा हम तो "गम" चाहते है, ख़ुशी उन्हे दे दो जिन्हें "हम" चाहते हे.


सिमट गया मेरा प्यार भी चंद अल्फाजों में, जब उसने कहा मोहब्बत तो है पर तुमसे नहीं.



बहुत थक सा गया हूँ खुद को साबित करते करते , मेरे तरीके गलत हो सकते है मगर मेरी मोहब्बत नही ।


मैं कभी किसीको अपने दिल से दुर नही करता, बस जीनका दिल भर जाता है वो मुजसे दुर हो जाते हैँ।


मौत की हिम्मत कहां थी मुझसे टकराने की,
कमबख्त ने मोहब्बत को मेरी सुपारी दे डाली ..


बड़ी बारीकी से तोडा है, उसने दिल का हर कोना,
मुझे तो सच कहुँ, उसके हुनर पे नाज़ होता है ..


Breakup Shayari in Hindi
Breakup Shayari in Hindi




मैं क्यूँ कुछ सोच कर दिल छोटा करूँ,
वो उतनी ही कर सकी वफ़ा जितनी उसकी औकात थी ..


अब तो उदासियो में जिने की आदत बन गयी है,
हो गये है गैर वो लौग जो कभी अपने हुआ करते थे ..


बस यही सोच कर तूझसे मोहब्बत करता हूँ की,
मेरा तो कोई नही मगर तेरा तो कोई हो ..


तुम बेवफा नहीं यह तो धड़कनें भी कहती हैं,
अपनी मजबूरियों का एक पैगाम तो भेज देते ..


ज़िन्दगी तुझ से एक सबक सीखा है मैंने,
वफ़ा सब से करो, वफ़ा की उम्मीद किसी से न करो ..




अगर मोहब्बत नहीं थी तो बता दिया होता,
तेरे एक चुप ने मेरी ज़िन्दगी तबाह कर दी ..


दोस्तो . किसी ने मेरा दिल तोड़ा है,
अब आप ही बताओ जान दुँ या जाने दुँ ..


गुमराह करते तो हम भी आरजू होते किसी की,
ख़ता यही हुई की दिल को खोल के रख दिया ..


उनकी दुनिया में हम जैसे हजारो है,
हम ही पागल है जो उसे पाकर मगरूर हो गए ..


खाए है लाखों धोखे, एक और सह लेंगे,
तू ले जा अपनी डोली, हम अपने जनाजे को बारात कह लेंगे ..


मजा चख लेने दो उसे गैरों की मोहब्बत का भी,
इतनी चाहत के बाद जो मेरा न हुआ वो औरों का क्या होगा ..


सब्र रखो बहूत जल्द ही महसूस होगा तुम्हे,
मेरा होना क्या था और मेरा ना होना क्या है ..


परिन्दों की फ़ितरत से आए थे वो मेरे दिल में,
ज़रा पंख निकल आए तो आशियाना छोड दिया ..


उसका प्यार भी क्या कमाल का था,
धोखा भी खुद देती है और इलज़ाम भी खुद ही लगाती है ..


हमने उतार दिये है तेरी मोहब्बत के सभी क़र्ज,
अब हिसाब तेरे दिये हुये जख्मो का होगा ..


हम क्योँ गम करेँ अगर वो हमेँ ना मिले अरे. गम तो वो करेँ जिसे हम ना मिले।


मेरी चाहतों की खता थी जो तुझे प्यार के काबिल समझा मैंने, वरना इस गुलिस्तान में कमी न थी फूलों और बहारों की।


तेरी वफ़ा के तकाजे बदल गये वरना, मुझे तो आज भी तुझसे अजीज कोई नहीं….


जीत तो सकते थे हम भी इश्क की बाज़ी, पर तुम्हे जितने के लिए हम हारते चले गये….


दिल का मंदिर बड़ा वीरान नज़र आता है, सोचता हूँ तेरी तस्वीर लगा कर देखूँ….


No comments:

Post a comment